ब्लैकबेरी के 12 फायदे, उपयोग और नुकसान – Blackberry Advantages and Facet Results in Hindi - BestHomeDecors
Home / Hindi / ब्लैकबेरी के 12 फायदे, उपयोग और नुकसान – Blackberry Advantages and Facet Results in Hindi

ब्लैकबेरी के 12 फायदे, उपयोग और नुकसान – Blackberry Advantages and Facet Results in Hindi

सेहत की बात हो और फलों का जिक्र न हो, ऐसा तो हो ही नहीं सकता। मौसमी फलों का स्वाद ही कुछ अलग होता है। वहीं, कुछ फल ऐसे होते हैं, जिनका हर किसी को बेसब्री से इंतजार रहता है। ऐसा ही एक मौसमी फल है ब्लैकबेरी, जिसे आम बोल-चाल की भाषा में जामुन कहा जाता है। इसका रंग काला होता है और यह रस से भरा होता है। जामुन रोजेशिया परिवार से संबंधित पौधा है। इसकी अधिकतर खेती उत्तरी अमेरिका और प्रशांत महासागर वाले क्षेत्र में होती है। इसमें कई पौष्टिक तत्व मौजूद होते हैं। जामुन फल के अलावा इसके पत्ते और छाल को भी कई रोगों के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है। स्टाइलक्रेज के इस लेख में हम ब्लैकबेरी के औषधीय गुण और ब्लैकबेरी के स्वास्थ्य लाभ के बारे में विस्तार से बताएंगे।

ब्लैकबेरी के कई प्रकार हैं, जिसके बारे में आप लेख के इस पहले भाग में पढ़ेंगे।

ब्लैकबेरी के प्रकार – Varieties of Blackberry in Hindi

ब्लैकबेरी के कई प्रकार हैं, जो स्वाद, आकार और रंग में अलग-अलग होते हैं (1)।

1. ट्रेलिंग ब्लैकबेरी- इस ब्लैकबेरी की सबसे ज्यादा खेती ब्रिटिश कोलंबिया से लेकर कैलिफोर्निया तक होती है। इसका पौधा 20 फुट तक लंबा हो सकता है।

2. ब्लैकबेरी/रेड रास्पबेरी हाइब्रिड्स- यह हाइब्रिड ब्लैकबेरी ज्यादातर जंगल में पाई जाती हैं। ये बाहर से लाल होती हैं, जबकि अंदर से इनका रंग सफेद होता है।

3. इरेक्ट ब्लैकबेरी- इस तरह की ब्लैकबेरी पूर्वी देशों में पाई जाती हैं। इनका पेड़ 12 फुट तक लंबा हो सकता है। यह गर्मी के मौसम में तेजी से बढ़ती हैं।

4. प्राइमोकेन-फ्रूटिंग इरेक्ट ब्लूबेरी- इस प्रकार के जामुनों का उत्पादन सितंबर से अक्टूबर के बीच तेजी से होता है।

5. सेमरियाक ब्लैकबेरी- इस प्रकार की ब्लैकबेरी का पौधा लंबा, कांटेदार और मोटा होता है। यही कारण है कि इसे तोड़ते समय अधिक सावधानी बरतनी पड़ती है।

ब्लैकबेरी खाने से कई फायदे हो सकते हैं, जिसके बारे में हम आगे जानकारी दे रहे हैं।

ब्लैकबेरी के फायदे – Advantages of Blackberry in Hindi

जब शरीर में कई तरह के पोषक तत्व पहुंचते हैं, तो उससे सेहत को फायदा होता है। कुछ ऐसा ही ब्लैकबेरी के साथ भी है। ब्लैकबेरी के फायदों के बारे में हम यहां विस्तार से बता रहे हैं।

1. हृदय स्वास्थ्य के लिए

For heart health

Shutterstock

एक शोध के अनुसार, ब्लैकबेरी का सेवन करने से हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा मिल सकता है (2)। दरअसल, ब्लैकबेरी में एंथोसायनिन और फ्लेवोनॉयड पाए जाते हैं, जो हृदय से जुड़ी समस्या को दूर करने का काम कर सकते हैं (3)। इसलिए, ब्लैकबेरी खाने के फायदे हृदय के लिए हो सकते हैं।

2. कैंसर को दूर रखने में

ब्लैकबेरी के औषधीय गुण के कारण इसे कैंसर को दूर रखने के लिए भी सहायक माना जा सकता है। ब्लैकबेरी में एंटी-कैंसर गुण पाए जाते हैं, जो कैंसर के जोखिम को दूर कर सकते हैं। साथ ही इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट गुण फ्री-रेडिकल्स को खत्म करने का काम कर सकते हैं, जो कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाकर कैंसर का कारण बन सकते हैं। इस लिहाज से ब्लैकबेरी एसोफैगस कैंसर, सर्वाइकल कैंसर और ब्रेस्ट कैंसर के जोखिम को कम करने में मदद कर सकती है (4)।

3. हड्डियों के लिए

To bones

Shutterstock

बेहतर स्वास्थ्य के लिए हड्डियों का मजबूत होना भी जरूरी है। इसके लिए आप कई तरह के पोषण युक्तों से युक्त ब्लैकबेरी का सेवन कर सकते हैं। यह फल हड्डियों को मजबूत बनाए रखने में मदद करता है। दरअसल, ब्लैकबेरी में फेनोलिक पाए जाते हैं, जो हड्डियों को नुकसान पहुंचने से रोकने का काम कर सकते हैं (5)।

4. फैट को कम करने में

शरीर में फैट के बढ़ने से कई तरह के शारीरिक रोग पनपने लग जाते हैं। ऐसे में ब्लैकबेरी का सेवन करने पर फैट को कम किया जा सकता है। दरअसल, ब्लैकबेरी में एंथोसायनिन प्रभाव पाया जाता है, जो चर्बी को कम करने में मदद कर सकता हैं (6)।

5. स्वस्थ मस्तिष्क के लिए

For a healthy brain

Shutterstock

ब्लैकबेरी में कई तरह के पोषक तत्व होते हैं, जो आपके दिमाग को स्वस्थ रखने में लाभकारी हो सकते हैं। ब्लैकबेरी में मुख्य रूप से विटामिन सी और विभिन्न तरह के पॉलीफेनॉल्स पाए जाते हैं, जो मस्तिष्क को स्वस्थ रखने में फायदेमंद हो सकते हैं। साथ ही ब्लैकबेरी में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं, जो उम्र के साथ कमजोर होती याददाश्त से आपको बचा सकते हैं (7)।

6. इम्युनिटी के लिए

आपके बार-बार बीमार पड़ने का एक कारण इम्यून सिस्टम का कमजोर होना भी हो सकता है। ऐसे में ब्लैकबेरी का सेवन करने पर इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत किया जा सकता है। इसके लिए ब्लैकबेरी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट गुण मददगार साबित हो सकते हैं (4)।

7. मधुमेह के लिए

आप जानकर हैरान होंगे कि ब्लैकबेरी के पत्ते का उपयोग करके मधुमेह की समस्या से निजात पाया जा सकता है। ब्लैकबेरी के पत्ते का इस्तेमाल करने से रक्त में शुगर की मात्रा को कम किया जा सकता है। इसलिए, ऐसा माना जा सकता है कि ब्लैकबेरी का उपयोग करके मधुमेह की समस्या को कम किया जा सकता है (8)। यहां हम स्पष्ट कर दें कि इस संबंध में अभी कोई सटीक वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं है। इसलिए, मधुमेह की अवस्था में इसका इस्तेमाल करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर कर लें।

8. ओरल हेल्थ के लिए

For oral health

Shutterstock

ब्लैकबेरी के अर्क को माउथवॉश के तौर पर उपयोग किया जा सकता है। इसके लिए ब्लैकबेरी में पाए जाने वाले एंटीबैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल गुण जिम्मेदार हैं, जो बैक्टीरिया को दूर करने या खत्म करने का काम करते हैं। यहां आपको बता दें कि बैक्टीरिया के कारण दांत के सड़ने और टूटने का खतरा होता है, जिससे ब्लैकबेरी आपको बचाती है (9)। इसलिए, ऐसा कहा जा सकता है कि ब्लैकबेरी के उपयोग से ओरल हेल्थ में सुधार किया जा सकता है।

9. आंखों के लिए

आंखों के स्वास्थ्य के लिए ब्लैकबेरी अहम भूमिका निभाने का काम कर सकती है। एक शोध के अनुसार, आंखों की रौशनी में सुधार करने के लिए विटामिन-ए मददगार होता है। साथ ही विटामिन-सी और ई में भी एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो कोशिकाओं को फ्री रेडिकल्स के हमले से बचाते हैं। इस प्रकार ब्लैकबेरी के प्रयोग से आंखों को होने वाले नुकसान से बचाया जा सकता है (10) (11)।

10. एंटी इंफ्लेमेटरी

एक रिसर्च के अनुसार, ब्लैकबेरी में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है, जो इंफ्लेमेटरी से संबंधित कई समस्याओं को दूर करने के लिए उपयोगी साबित हो सकता है (12)। यह ब्लैकबेरी के औषधीय गुण में से एक गुण है।

11. त्वचा के लिए

to skin

Shutterstock

ब्लैकबेरी के प्रयोग से त्वचा को स्वस्थ रखा जा सकता है। इसके लिए ब्लैकबेरी में पाए जाने वाले विटामिन (सी, ए, ई, बी 6) और आयरन सहायक हो सकते हैं, जो त्वचा को पोषण प्रदान कर स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकते हैं (13)।

12. बालों के लिए

ब्लैकबेरी में विटामिन-सी, विटामिन-बी, जिंक, आयरन, मैग्नीशियम और कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं (10), जो बालों को मजबूत बनाने के लिए लाभदायक हो सकते हैं (14)। इसलिए, ब्लैकबेरी खाने के फायदे में काले, लंबे और घने बाल भी शामिल हैं।

ब्लैकबेरी में कई प्रकार के पोषक तत्व होते हैं, जिसके बारे में हम आगे बता रहे हैं।

ब्लैकबेरी का पौष्टिक तत्व – Blackberry Dietary Worth in Hindi

ब्लैकबेरी सेहत के लिए इतनी लाभकारी इसलिए है, क्योंकि इसमें कई प्रकार के पोषक तत्व मौजूद हैं। यहां हम टेबल के जरिए इन पोषक तत्वों के बारे में बता रहे हैं (10):

पोषक तत्व मात्रा प्रति 100 g
पानी 88.15 g
ऊर्जा 43 kcal
प्रोटीन 1.39 g
टोटल लिपिड (फैट) 0.49 g
कार्बोहाइड्रेट 9.61 g
फाइबर, टोटल डाइटरी 5.Three g
शुगर, टोटल 4.88 g
मिनरल्स
कैल्शियम ,Ca 29 gm
आयरन ,Fe 0.62 mg
मैग्नीशियम , Mg 20 mg
फास्फोरस ,P 22 mg
पोटैशियम ,Okay 162 mg
सोडियम ,Na 1  mg
जिंक ,Zn 0.53  mg
विटामिन्स
विटामिन सी , टोटल एस्कॉर्बिक एसिड 21.Zero mg
थाइमिन 0. 020 mg
राइबोफ्लेविन 0. 026 mg
नियासिन 0.646 mg
विटामिन बी -6 0. 030 mg
फोलेट DFE 25 µg
विटामिन ए RAE 11 µg
विटामिन ए IU 214 IU
विटामिन ई 5.65 mg
विटामिन के 19.Eight µg
लिपिड
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड 0.014 g
फैटी एसिड, टोटल मोनोसैचुरेटेड 0.047 g
फैटी एसिड, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड 0.280 g

ब्लैकबेरी का उपयोग किस-किस तरह से किया जा सकता है, उसे हम लेख के इस हिस्से में बता रहे हैं।

ब्लैकबेरी का उपयोग – Methods to Use Blackberry in Hindi

How to Use Blackberry in Hindi

Shutterstock

ज्यादातर लोगों को ब्लैकबेरी को सामान्य तरीके से खाने के बारे में ही जानकारी है, लेकिन हम यहां इसे विभिन्न तरीके से खाने के बारे में बता रहे हैं।

कैसे खाएं :

  • ब्लैकबेरी को नट्स के साथ मिलाकर नाश्ते में खाया जा सकता है।
  • दूध के साथ ब्लैकबेरी को मिलाकर स्मूदी तैयार की जा सकती है।
  • पकी हुई ताजा ब्लैकबेरी को धोकर ऐसे ही खाया जा सकता है।
  • ब्लैकबेरी को केक बनाते वक्त उसमें इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • ब्लैक बेरी का जूस निकाल कर भी पिया जा सकता है।

कब खाएं :

  • सुबह नाश्ते के तौर पर कुछ ब्लैकबेरी खा सकते हैं।
  • शाम को ब्लैकबेरी का जूस या स्मूदी पी सकते हैं।

कितना खाएं :

  • प्रतिदिन 10 से 12 ब्लैकबेरी खाना सेहत के लिए अच्छा माना गया है।

इस लेख में आगे हम बता रहे हैं कि ब्लैकबेरी का चयन करते समय क्या सावधानी बरतनी चाहिए।

ब्लैकबेरी का चयन कैसे करें और लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखें?

सही ब्लैकबेरी का चयन ही आपके लिए ज्यादा फायदेमंद हो सकता है। यहां जानिए कि अच्छी ब्लैकबेरी का चुनाव कैसे करें।

चयन कैसे करें:

  • कोशिश करें कि ब्लैकबेरी को फल मंडी से ही खरीदें।
  • ब्लैकबेरी लेते समय ध्यान रखें कि वह बाहर से मजबूत और गहरे रंग की हो।
  • पीली और नारंगी दिखने वाली ब्लैकबेरी को खरीदने से बचें।
  • ब्लैकबेरी लेते समय ध्यान रखें कि वह कहीं से भी कटी हुई न हो और उसमें कोई दाग न लगा हो।

लम्बे समय तक सुरक्षित कैसे रखें :

  • आप ब्लैकबेरी को बिना धोए रेफ्रिजरेटर में रख सकते हैं।
  • गिले कपड़े में लपेट कर भी रख सकते हैं।
  • सामान्य तापमान वाले कमरे में कुछ समय के लिए सुरक्षित रखा जा सकता है।

ब्लैकबेरी खाने के कुछ नुकसान भी हो सकते हैं, जिसकी जानकारी लेख के इस अंतिम भाग में दी जा रही है।

ब्लैकबेरी के नुकसान – Facet Results of Blackberry in Hindi

जिस तरह ब्लैकबेरी का सेवन लाभदायक हो सकता है, वैसे ही इसे अधिक मात्रा में खाने से कुछ नुकसान भी हो सकते हैं।

  1. कई बार ब्लैकबेरी को ठीक तरह से धोए बिना खाने पर एलर्जी हो सकती है।
  2. ब्लैकबेरी में फाइबर की मात्रा पाई जाती है। इसे अधिक मात्रा में खाने से उलटी, मतली और दस्त जैसी समस्या हो सकती है (10), (16)।
  3. कई बार ब्लैकबेरी का सेवन करने पर फूड पॉइजन का भी सामना करना पड़ सकता है।

जैसा कि आपने लेख में पढ़ा कि ब्लैकबेरी खाने के फायदे अधिक हैं और नुकसान कम। इसलिए, आपके मन में काले रसीले ब्लैकबेरी खाने की इच्छा उत्पन्न हो रही होगी। अगर ऐसा है, तो आप एक बार पूरे आर्टिकल को अच्छे से पढ़ लें और जान लें कि यह किस तरह की समस्याओं से निजात दिलाने में मदद कर सकता है। उम्मीद करते हैं कि यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगा। अगर आपके पास इस लेख से जुड़ा कोई सुझाव या सवाल है, तो नीचे दिए कमेंट बॉक्स के माध्यम से हम तक पहुंचा सकते हैं।

संबंधित आलेख

The put up ब्लैकबेरी के 12 फायदे, उपयोग और नुकसान – Blackberry Advantages and Facet Results in Hindi appeared first on STYLECRAZE.

About admin

Check Also

नेल फंगस (नाखून की बीमारी) के कारण, लक्षण और घरेलू इलाज – Nail Fungus Signs and House Cures in Hindi

नाखून सिर्फ हमारे हाथ-पैरों की सुंदरता के ही नहीं, बल्कि स्वास्थ्य का भी दर्पण होते …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *